Antarjatiya vivah yojana 2022 | बिहार अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना – लाभ Registration दस्तावेज़

बिहार अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना रजिस्ट्रेशन | Bihar Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana | Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana Benfits | अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना आवेदन form

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारे समाज में अभी भी जातिगत भेदभाव चल रहा है, इसलिए इसे रोकने के लिए Bihar राज्य सरकार antarjatiya vivah protsahan yojana के तहत 2,50,000 रुपये का आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। Bihar में antarjatiya vivah को अभी भी नीची दृष्टि से देखा जाता है, यदि वे अंतर्जातीय विवाह करते हैं तो परिवार अभी भी बच्चों को स्वीकार नहीं करते हैं। इस प्रकार Bihar antarjatiya vivah protsahan yojana राज्य के लोगों की सोच को बदल देगी।

समाज के खिलाफ अंतर्जातीय विवाह करने वाले जोड़ों को अपने रिश्तेदारों और समुदायों से बचने के लिए कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। Antarjatiya vivah protsahan yojana केंद्र सरकार के डॉ भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन का एक हिस्सा है। यह लेख आपको antarjatiya vivah protsahan yojana के पात्रता पंजीकरण और लाभों के बारे में पूरी जानकारी देगा, इसलिए इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Bihar Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022 का उद्देश्य

साम्प्रदायिकता, महिलाओं के सामने आने वाली कठिनाइयों, समाज में अस्पृश्यता को समाप्त करने के लिए बिहार सरकार ने 2019 में बिहार अंतरजातीय विवाह योजना शुरू की। राज्य में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए इस योजना पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

किसी भी सामान्य वर्ग के लड़के या लड़की की पहली बार अनुसूचित जाति के व्यक्ति से शादी करने पर डॉ भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन द्वारा 2,50,000 रुपये का वित्तीय प्रोत्साहन दिया जाएगा। यह नवविवाहित जोड़े को उनके आगे के विवाहित जीवन के लिए और अधिक वित्तीय स्थिर बना देगा।

Bihar Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana 2022 Hindi

योजना का नाम: Bihar Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana
द्वारा शुरू किया गया: बिहार राज्य सरकार
उद्देश्य: राज्य में जातिगत भेदभाव को खत्म करना
लाभार्थी: बिहार राज्य के नागरिक
प्रोत्साहन राशि: २,५०,००० रुपये
आवेदन का तरीका: ऑनलाइन ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट: http://ambedkarfoundation.nic.in/

बिहार अंतर्जातीय विवाह योजना 2022 के तहत आवेदन कैसे करें How to apply?

  • योजना के तहत लाभ के लिए आवेदन करने के लिए आपको यहां आवेदन पत्र डाउनलोड करना होगा।
  • डाउनलोड किए गए फॉर्म का एक प्रिंटआउट लें और दोनों के आवश्यक विवरण जैसे नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि आदि भरें।
  • फॉर्म के साथ दी गई सभी आवश्यक दस्तावेज़ प्रतियाँ संलग्न करें।
  • उपरोक्त सभी चरणों को पूरा करने के बाद फॉर्म और दस्तावेजों को नजदीकी समाज कल्याण विभाग में ले जाकर जमा करें।

Benefits of Bihar Antarjatiya Vivah Protsahan Yojana लाभ

यह योजना सरकार द्वारा एक उद्देश्य से शुरू की गई थी, जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे समाज में जातिवाद से संबंधित बहुत भेदभाव है, सरकार इस तरह की योजनाओं के माध्यम से इस तरह के लाभ प्रदान करके इस बात को कम करने की उम्मीद करती है जैसे-

  • लोगों के बीच कोई जातिगत आलोचना नहीं होगी।
  • नए जोड़े को डॉ भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन द्वारा 2,50,000 रुपये दिए जाएंगे।
  • प्रोत्साहन राशि सीधे लाभार्थी के संयुक्त बैंक खाते में हस्तांतरित की जाएगी।

बिहार Antarjatiya vivah protsahan yojana के लिए पात्रता

बिहार अंतर्जातीय विवाह योजना के तहत लाभ के लिए पात्र होने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बिंदु निम्नलिखित हैं-
  • विवाहित जोड़े बिहार राज्य के स्थायी निवासी होने चाहिए।
  • बिहार अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लिए एक व्यक्ति अनुसूचित जाति/दलित समुदाय से होना चाहिए और दूसरा सामान्य वर्ग से होना चाहिए।
  • योजना के तहत पात्र होने के लिए लड़के और लड़की की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • विवाह हिंदू विवाह अधिनियम 1955 के तहत पंजीकृत होना चाहिए, यदि यह अन्य विशेष विवाह अधिनियम के तहत पंजीकृत है तो एक अतिरिक्त प्रमाण पत्र प्रदान किया जाना चाहिए।
  • पात्रता के लिए जोड़े का कोर्ट मैरिज भी होना चाहिए।
  • यह योजना केवल पहली बार अंतर्जातीय विवाहों के लिए लाभकारी है।

योजना के तहत आवश्यक योग्य दस्तावेज

Bihar antarjatiya vivah protsahan yojana के लिए पात्र साबित करने के लिए अनिवार्य दस्तावेज-
  • दोनों का आधार कार्ड
  • दोनों का जाति प्रमाण पत्र
  • पंजीकृत विवाह प्रमाणपत्र
  • संयुक्त बैंक खाता पासबुक कॉपी आधार लिंक
  • जोड़े की संयुक्त तस्वीर
  • घोषणा पत्र विधिवत हस्ताक्षरित

बिहार अंतर्जातीय विवाह कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं

  • Bihar राज्य सरकार ने राज्य में antarjatiya vivah को protasahan करने के लिए यह yojana शुरू की है।
  • अंतरजातीय विवाह के माध्यम से सामाजिक एकीकरण के लिए केंद्र सरकार की डॉ भीमराव अंबेडकर योजना के तहत यह योजना संचालित है।
  • शुरुआत में बिहार अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना 2 साल के लिए ट्रायल के आधार पर शुरू की गई थी, लेकिन अब यह योजना हर साल संचालित की जाती है।
  • इस योजना को सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री और डॉ अम्बेडकर फाउंडेशन के अध्यक्ष द्वारा देखा जाता है।
  • बिहार राज्य से अंतर्जातीय विवाह करने वाले दम्पति को 2,50,000 रुपये की सहायता से Bihar antarjatiya vivah protsahan yojana के तहत लाभान्वित किया जाएगा।
  • यदि दम्पति द्वारा योजना का लाभ प्राप्त करने के संबंध में कोई गलत सूचना दी जाती है तो उनसे राशि वापिस ली जाएगी।
  • लाभार्थी दंपत्ति के संयुक्त खाते में 1,50,000 रुपये की लाभ राशि हस्तांतरित की जाएगी, और शेष राशि ३ साल के लिए उसी बैंक खाते में fixed deposit के रूप में जमा की जाएगी।
  • यह राशि 3 वर्ष पूर्ण होने पर ब्याज सहित डॉ. अम्बेडकर फाउंडेशन को सूचित करके निकाली जा सकती है या यदि दम्पति फिक्स्ड डिपाजिट की अवधि बढ़ाना चाहते हैं तो वे ऐसा कर सकते हैं।

यह भी पढ़े-

Antarjatiya Vivah Yojana Maharashtra in Hindi

Bharat Sarkar Inter caste marriage benefits in Hindi

 

कृपया यहां पढ़ी गई जानकारी को साझा करें, ताकि अधिक लोगों को इस जानकारी के लाभों के बारे में पता चल सके। यदि आपको कोई संदेह है तो कृपया नीचे टिप्पणी में पूछें।

राज्य और केंद्र सरकार से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट sarkariyojana.in को भी बुकमार्क कर लें।

2 thoughts on “Antarjatiya vivah yojana 2022 | बिहार अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना – लाभ Registration दस्तावेज़”

Leave a Reply

%d bloggers like this: